chemical-reaction-and-equation

CHEMICAL REACTION AND EQUATION

CHEMICAL REACTION AND EQUATION ( रासायनिक अभिक्रिया और समीकरण )

रासायनिक अभिक्रिया (CHEMICAL REACTION )  : -

                जब कोई पदार्थ खुद में ही या किसी दूसरे पदार्थ से या एक से अधिम पदार्थ से अभिक्रिया कर एक नए गुणधर्म वाले पदार्थ का निर्माण करता है तो इस अभिक्रिया को रसायनकी अभिक्रिया कहते है.
जैसे  :-
2H2 + O2 —-> 2H2O
हाइड्रोजन(H2) गैस के दो परमाणु   जब ऑक्सीजन(O2) गैस के एक परमाणु से अभिक्रिया करता हैं  तब जल(H2O) का  निर्माण होता है जल का गुण  दोनों गैस के गुण  से बिलकुल भिन्न होता है।
( नोट :- ऑक्सीजन गैस O2 रूप में रहता है और हाइड्रोजन गैस H2 भी  रूप में रहता है )
         ( जब रासायनिक अभिक्रिया होती है तब रंग, तप  और अवस्था  में परिवर्तन  होता है या हो सकता है और अवक्षेप बन सकता है  )

रासायनिक समीकरण (CHEMICAL EQUATION ) :-

         जब रासायनिक अभिक्रियाक के अभिकारक और प्रतिफल को उसके रासायनिक सूत्र  के रूप में लिखा जाता है तो उसे रासायनिक समीकरण कहते हैं।
जैसे :- 2H2 + O2 =2H2O
हाइड्रोजन + ऑक्सीजन = जल
रासायनिक समाकरण द्रव्यमान संरक्षण सिद्धांत का पालन करता है
    2H2 + O2 =2H2O
अभिकारक —— प्रतिफल
H = 4                    H = 4
O = 2                    O = 2
2H2 + 02 = 2H2O
4g  + 32g = 36g
संतुलित रासायनिक समीकरण के अभिकारक और प्रतिफल का द्रव्यमान और तत्वों की संख्या बराबर होता हैं।
            (1.)जब रासायनिक समीकरण द्रव्यमान संरक्षण सिद्धांत का पालन करते हुए लिखा जाता है तब उसे संतुलित रासायनिक समीकरण कहते है जैसे :-                    2H2 +O2 = 2H2O
             (2.)जब  इस नियम का बिना पालन किये  लिखा जाता है तब इसे असंतुलित रासायनिक  समाकरण  कहते है जैसे  :- H2 + O2 = H2O

chemical-reaction-and-equation

रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार   ( TYPES OF CHEMICAL REACTION ) :-


                             (1.) संयोजन रासायनिक अभिक्रिया ( COMBINATION CHEMICAL REACTION ) :- जब दो या दो से अधिक पदार्थ आपस में संयोग कर एक नए पदार्थ का निर्माण करता हैं  तो उसे संयोजन अभिक्रिया कहते हैं। जैसे :- 
                              2H2 +O2 = 2H2O

                              (2.) वियोजन रासायनिक अभिक्रिया  (DECOMPOSITION CHEMICAL REACTION ) :-  जब एक पदार्थ टूट कर  दो या दो से अधिक पदार्थ का निर्माण  करता है तो उसे वियोजन रासायनिक अभिक्रिया कहते है। जैसे :-
                              CaCO3 = CaO +O2

                              (3.) एकल विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया ( SINGLE DISPLACEMENT CHEMICAL  REACTION ) : – किसी अणु  में मौजूद परमाणु या परमाणुओं के समूह को जब कोई परमाणु विस्थापित कर देता है तो उसे एकल  विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया कहते है। जैसे : – 
              Zn  + CuSO4  = ZnSO4   + Cu 

                              (4.) द्वि विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया ( DOUBLE DISPLACEMENT CHEMICAL REACTION ) : – जब दो यौगिक  अपने आयनों  का अदला बदली ( EXCHANGE ) कर दो नए यौगिक  का निर्माण करता है तब उसे द्वि विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं।  जैसे :- 
                    NaCl + AgNO3  = AgCl  + NaCl  
इसे उभयविस्थापन  अभिक्रिया भी कहते है 
इसका सूत्र : – XY + AB = XA  + YB ( जहाँ XB  धनात्मक हैं  और  YA ऋणात्मक है। )  

                               (5.) ऊष्माशोषी रासायनिक अभिक्रियाENDOTHERMIC CHEMICAL REACTION ) : – ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमें  ऊष्मा ऊर्जा का शोषण होता है उसे ऊष्माशोषी रासायनिक अभिक्रिया कहते है। जैसे :- 
     6CO2 + 6H2O + HEAT = C6H12O6 + 6O2
     
प्रकाश संश्लेषण 
     वाष्प का बनना 
     बर्फ का पिघलना
     आदि साधारण  उदाहरण  है इसका भोजन का बनना भी इसी का उदहारण  है      

                             (6 .) ऊष्माक्षेपी रासायनिक अभिक्रिया (  EXOTHERMIC CHEMICAL REACTION ) : –  ऐसी रासायनिक अभिक्रिया  जिसमे ऊष्मा के रूप ऊर्जा का निष्कासन होता है ऊष्माक्षेपी रासायनिक अभिक्रिया कहलाता है।  जैसे : – 
                               C + O2 = CO2 + HEAT 

                             (7.) अपचयन रासायनिक अभिक्रिया ( REDUCTION CHEMICAL REACTION ) : – ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमें  तत्व या यौगिक हाइड्रोजन (H2 ) से जुड़ता  हैं  या खुद से ऑक्सीजन (O2 ) को अलग करता है  अपचयन रासायनिक अभिक्रिया कहलाता हैं। जैसे : – 
                              H2 + Cl 2 = 2HCl             (यहाँ  Cl से H जुड़ा हैं )
                             CuO + H2 = Cu +  H2O  (यहाँ CuO  से O  अलग हुआ  हैं ) 
(इस  अभिक्रिया को अवकरण अभिक्रिया भी कहते है।  )

                             (8.) उपचयन रासायनिक अभिक्रिया ( OXIDATION CHEMICAL REACTION ) : – ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमें  तत्व या यौगिक ऑक्सीजन (O2 ) से जुड़ता  हैं  या खुद से हाइड्रोजन (H2 ) को अलग करता है  उपचयन रासायनिक अभिक्रिया कहलाता हैं। जैसे : – 
                              C + O2 = CO2                                             ( यहाँ C से O  जुड़ा )
           4HCL +MnO2 =MnCl2 + 2H2O + Cl2                    ( यहाँ HCL से H  अलग हुआ )
            ( OXIDATION AND REDUCTION अभिक्रिया साथ साथ ही होती हैं। )

                            (9.) रेडॉक्स रासायनिक अभिक्रिया ( REDOX  CHEMICAL REACTION ) :-  ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे ऑक्सीकरण अभिक्रिया और अवकरण अभिक्रिया साथ साथ हो उसे रेडॉक्स अभिक्रिया कहते हैं  

भोजन का पचना , भोजन का महकना , श्वसन और दहन आदि ऑक्सीकरण और अवकरण का उदाहरण हैं। 

                            (9.) वैधुत अपघटन  अभिक्रिया ( ELECTROLYTIC DECOMPOSITION REACTION ) : – कुछ धातुओं के द्रवित ऑक्साइड  और क्लोराइड के विलयन से विधुत धारा  प्रवाहित करने पर ऑक्सीजन या क्लोरीन एनोड पर और धातु कैथोड  पर मुक्त होता है ऐसे अभिक्रिया को वैधुत  अपघटन अभिक्रिया कहते है।  जैसे  : –
                              2NaCl    =    2Na    +    Cl2
                                            ( कैथोड)       ( एनोड )
                               2H2O   =   2H2   +   O2
                                              ( कैथोड )     ( एनोड )

                              (10.)अवक्षेपण अभिक्रिया ( PRECIPITATION CHEMICAL REACTION ) : –  ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे अभिक्रिया के बाद ठोस पदार्थ के रूप में कुछ पदाथ विलयन से अलग हो जाए अवक्षेपण अभिक्रिया कहलाता है।  जैसे : – 
                NaCl + AgNO3  = AgCl  + NaNO3         
               यहाँ   NaCl  ठोस के रूप में प्राप्त होता है। 

                         (11.) प्रकाश रासायनिक अभिक्रिया ( PHOTO CHEMICAL REACTION ) :- ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जो प्रकाश  उपस्थिति में होता है उसे प्रकाश रासायनिक अभिक्रिया कहते है।  जैसे  :- 
                               H2 + Cl2  = 2HCl 
 यहाँ हाइड्रोजन और क्लोरीन अंधेरे  में तो अभिक्रिया नहीं करता है लेकिन प्रकाश में अभिक्रिया कर लेता है।  
                      6CO2   +  6H2O    =  C6H12O6
   प्रकाशसंश्लेषण भी प्रकाश रासायनिक अभिक्रिया है। 

                        (12.)उदासीनीकरण अभिक्रिया ( NEUTRALISATION CHEMICAL REACTION ) : – ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे अम्ल भस्म से अभिक्रिया कर लवण और जल बनाता  है उसे उदासीनीकरण अभिक्रिया  कहते है।  जैसे : – 
                HCl   +  NaOH   =   NaCl   +   H2O 
               अम्ल         भस्म           लवण          जल   

.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *